DOWNLOAD OUR APP
IndiaOnline playstore
08:51 AM | Sat, 25 Jun 2016

Download Our Mobile App

Download Font

आत्मविश्वास और अपनी कला के बलबूते उभरता नाम मज़हर ख़ान

134 Days ago
| by Loktantrik Media

IMG-20160202-WA0016.jpg

(सिराज फ़ैसल ख़ान) हिम्मत, लगन और हौसला हो तो कोई भी काम मुश्किल नहीं होता। आत्मविश्वास और अपने काम से प्यार के बलबूते इंसान कठिन से कठिन मन्ज़िल को हासिल कर लेता है।बचपन में स्कूल से निकाल दिए जाने वाले थॉमस अल्वा एडिसन बड़े होकर बल्ब का आविष्कार करते हैं तो साधारण सा दिखने वाला ग्रामीण दशरथ मांझी अपने मज़बूत इरादे से पहाड़ को तोड़कर रास्ता बना देता है।किसी शायर ने कहा है कि-

तेरी किसमतबदलपाती तो कैसे

कि जब आँखों में सपना भी नहीं था

 जीवन में आगे बढ़ने के लिए ज़रूरी है सपने देखना और उन सपनों को पूरा करने के लिए जी जान से मेहनत करना। विपरीत परिस्तिथियों में भी हार ना मानना।कुछ कर दिखाने का ऐसा ही सपना उत्तर प्रदेश के ऐतिहासिक ज़िले शाहजहाँपुर में जन्मे मज़हर ख़ान की आँखों ने देखा। वो सपना था बड़े पर्दे पर बतौर अभिनेता अपनी पहचान बनाने का।एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे मज़हर ख़ान, अज़हर हुसैन ख़ान और इदरीस जहां बेगम के तीन बेटों में दूसरे नम्बर पे हैं। उनकाबचपन अपनी नानी के गांव 'महानन्दपुर' में व्यतीत हुआ। बचपन से ही अभिनय की दुनिया ने मज़हर ख़ान को आकर्षित किया और बड़े बड़े होते होते उन्होंने अभिनय को ही अपनी मन्ज़िल बना लिया। छोटे शहर और मध्यमवर्गीय परिवार की परिस्तिथियों का सामना करते हुए मज़हर ख़ान ने अपने सपने को कभी धुंधला नहीं पड़ने दिया। हर गुज़रते दिन के साथ साथ ये उम्मीद और जवान होती चली गयी।मज़हर ख़ान को राजेश कुमार और हैदर नज़्मी जैसे गुरु मिले जिन्होंने ना केवल उनकी प्रतिभा को पहचाना बल्कि उसे तराशा भी।

मज़हर ख़ान गांधी फैज़ ए आम कॉलेज से तालीम हासिल करने के दौरान ही रंगमंच से जुड़ गए थे। शाहजहाँपुर में गांधी भवन में अभिव्यक्ति नाटक मंच नाम की संस्था की तरफ़ से आयोजित होने वाले नाटकों में उन्होंने अभिनय की शुरुआत की। अभिनय के प्रति अपने प्रेम और लगाव के चलते ही उनका सफ़र गांधी भवन से आगे बढ़ता हुआ लखनऊ पहुंचा जहां उन्होंने भारतेंदु नाट्य अकादमी से ड्रामैटिक आर्ट्स में डिप्लोमा किया। मज़हर ख़ान यहीं नहीं रुके बल्कि अपनी प्रतिभा के बल पर देश के प्रतिष्ठित संस्थान एफ टी आई आई में दाखिला पाया और यहाँ से "Film Orientation & Apprecition course" को पूरा किया।

आखिर वो वक़्त भी आया कि उन्हें मुम्बई की अपनी मन्ज़िल मिल गयी। अब उन्हें एक नये सिरे से संघर्ष का सामना करना था और भीड़ में अपना रास्ता बनाना था।अपनी पहचान कायम करनी थी।हमेशा की तरह मज़हर ख़ान ने धैर्य से काम लेते हुए मुम्बई में अपने हुनर को पर्दे तक लाने के लिये जी-तोड़ मेहनत शुरू की और उनकी मेहनत रंग लायी।कुछ वक़्त पर्दे के पीछे काम करने के बाद उन्हें पर्दे पर काम करने का मौक़ा भी मिला। ज़ी टी वी के लोकप्रिय धारावाहिक " भागोंवाली" में 'टिल्लू' के किरदार से उन्होंने दर्शकों के दिल में जगह बनाई तो उन्हें ज़ी टी वी के ही एक अन्य सीरियल " डोली अरमानों की" में ' मुक्ति' का रोल निभाने का मौक़ा भी मिला। इस दौरान वो दूसरे टी वी कार्यक्रमों में भी काम करते रहे।छोटे पर्दे पर अपनी उपस्तिथि दर्ज कराने के साथ साथ मज़हर ख़ान बड़े पर्दे पर अभिनय के लिए भी प्रयास करते रहे। आख़िर उनका बड़े पर्दे पर अभिनय का सफ़र भी शुरू हुआ। अब तक वो 'लव यू मिस्टर कलाकार', 'रज्जो', 'देख इंडियन सर्कस' और बदलापुर बॉयज जैसी फिल्मों में बतौर अभिनेता काम कर चुके हैं।

(बहुमुखी प्रतिभा के धनी मज़हर ख़ान ने ना केवल अभिनय बल्कि लेखन और निर्देशन के क्षेत्र में भी अपने हुनर को प्रदर्शित किया है।वो अब तक 4 शॉर्ट फिल्मों का निर्माण कर चुके हैं।जिन्हें यूट्यूब पे देखा जा सकता है।इसके अतिरिक्त मज़हर ख़ान ने कई फेस्टिवल फिल्मों में भी बतौर अभिनेता काम किया जिनमें 'संशोधन', ' गोल्डन पॉकेट वॉच', 'अच्छा क्या बुरा क्या', 'छोटी आशा' आदि प्रमुख हैं।इन दिनों वो प्रसिद्द अभिनेता-निर्देशक 'शशांक' के एक बड़े प्रोजेक्ट में व्यस्त हैं। लोकपाल आंदोलन को लेकर पूरी दुनिया में चर्चा का केंद्र रहे प्रसिद्द समाजसेवी और गांधीवादी कार्यकर्ता "अन्ना हज़ारे" के जीवन पर बनने वाली फ़िल्म "अन्ना" में मज़हर ख़ान, अन्ना हज़ारे के दोस्त का किरदार निभा रहे हैं। ये फ़िल्म कई मायनों में बेहद ख़ास है। ख़ुशी की बात ये है कि इस अहम फ़िल्म से मज़हर ख़ान के माध्यम से शाहजहाँपुर भी जुड़ गया है।फ़िल्म "अन्ना" का निर्देशन शशांक ने किया है जिन्होंने इस फ़िल्म में अन्ना का किरदार भी निभाया है। मज़हर ख़ान इस फ़िल्म में आरिफ ज़कारिया, तनीषा मुखर्जी, गोविन्द नामदेव जैसे कलाकारों के साथ अभिनय कर रहे हैं। फ़िल्म का निर्माण दिग्गज म्यूजिक डायरेक्टर रविन्द्र जैन के छोटे भाई मणीन्द्र जैन कर रहे है।(लोकतान्त्रिक मीडिया )

Viewed 230 times
  • SHARE THIS
  • TWEET THIS
  • SHARE THIS
  • E-mail

Our Media Partners

app banner

Download India's No.1 FREE All-in-1 App

Daily News, Weather Updates, Local City Search, All India Travel Guide, Games, Jokes & lots more - All-in-1